नमाज़ पढ़ने के बाद फिरोज शाह कोटला किले में हनुमानजी चालीसा पाठ से पुलिस ने रोका।

Namaz issue at Feroz Shah Kotla Fort

हाल ही में आप विधायक अमानतुल्लाह खान ने फिरोज शाह कोटला किले में नमाज़ पढ़ी थी। लोगों को जब पता लगा जब इसकी वीडियोस सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी।

जैसा कि आप सभी ने गुरुग्राम में हर शुक्रवार को पब्लिक पार्कों में होने वाली नमाज़ को लेकर चल रही न्यूज़ देखी ही होगी। आपने वहाँ पर देखा होगा कि किस प्रकार हर शुक्रवार को मुस्लिम्स एक जगह जमा होकर नमाज़ अदा करते है, जिससे की क्षेत्रीय माहौल की शांति भंग होती रहती है।

अब ऐसा ही कुछ आम आदमी पार्टी का बाहुबली विधायक अमानतुल्लाह खान कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक अमानतुल्लाह ने फिरोज शाह कोटला किले में नमाज़ पढ़कर क्षेत्रीय शांति भंग करने की कोशिश की।

जब यह कथित आपत्तिजनक वीडियो हिंदू संगठनों के पास पहुँची तो उन्होंने भी बाकायदा टिकट लेकर प्रत्येक मंगलवार हनुमानजी चालीसा का पाठ करने का ऐलान किया।

हिंदू आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजीव भाटी ने बाकि हिंदुओ से भी इसका हिस्सा बनने की अपील की थी। परंतु जैसे ही वे आज अपने पूर्व कार्यक्रम के अनुसार अन्य हिंदुओ समेत किले पहुँचे वैसे ही उन्हें पुलिस ने रोक लिया।

पुलिस द्वारा रोक देने पर फिर सभी हिंदुओ ने बैरिकेडिंग के सामने ही जोर शोर से चालीसा का पाठ शुरू किया।

संजीव भाटीजी के अनुसार यह जमीन पुरातत्व विभाग की संपत्ति है और यहाँ पर सालों से नमाज़ पढ़ी जा रही है। सालों से नमाज़ पढ़ी जाने के कारण यहाँ पर लैंड जिहाद होने की संभावना भी व्यक्त की गई।

सवाल यह है कि अगर किसी पब्लिक या पुरातात्विक जगह पर नमाज़ पढ़ी जा रही है तो प्रशासन क्यों मौन रहता है? और फिर विरोध प्रदर्शन कर रहे हिंदुओ की आवाज़ को ही क्यों कुचला जाता है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.